साइन इन | रजिस्टर

स्टॉक्स फंड्स एफ&ओ कमोडिटी

18 महीने पुराने इस mutual fund स्कीम ने 1 साल में दिया 170% का रिटर्न, क्या आपको करना चाहिए निवेश

10 मई 2021, 01:22 PM

18 महीने पुराने इस mutual fund स्कीम ने 1 साल में दिया 170% का रिटर्न, क्या आपको करना चाहिए निवेश

अक्टूबर 2019 में लॉन्च हुए  ICICI Prudential Commodities Fund (IPCF) ने बहुत ही जबरदस्त प्रदर्शन किया है। सिर्फ पिछले 1 साल में इस फंड ने 172 फीसदी का रिटर्न दिया है। ये आकड़े वैल्यू रिसर्च के विवरण  पर आधारित हैं। अब सवाल यह है कि क्या ये स्कीम अपनी यह रिटर्न रेट आगे बनाई रख पाएगी। क्या अब हमें इस फंड में निवेश करना चाहिए।

जानिए स्कीम के बारे में

IPCF एक थीमैटिक फंड है जो कमोडिटी स्टॉक में निवेश  करती है। कमोडिटी स्टॉक साइकिलिक नेचर के होते हैं। इस तरह के शेयर इकोनॉमी के साथ जुड़े होते हैं। इकोनॉमी में तेजी के साथ इनमें भी तेजी आती हैं।

इस समय बाजार में इस तरह के 4 फंड है। यह स्कीम  पेपर, सीमेंट और सीमेंट प्रोडक्ट ,मेटल्स (फेरेस मेटल,नॉन -फेरस मेटल,मिनरल एंड माइनिंग) chemicals, fertilizers और  pesticides सेगमेंट के शेयरों में निवेश करती है।

इसके अलावा इसका एक हिस्सा दूसरे कमोडिटी सेक्टर जैसे ऑयल एंड गैस के लिए भी रिजर्व है। स्कीम के मैंडेट के मुताबिक इस स्कीम का कम से कम 80 फीसदी हिस्सा कमोडिटी स्टॉक में निवेश किया जाता है। शंकरन नरेन (Sankaran Naren) और ललित कुमार (Lilit Kumar) इस फंड को मैनेज करते हैं।

कैसे इस फंड ने किया शानदार प्रदर्शन

थीमैटिक फंड उस समय अच्छा प्रदर्शन करते हैं जब उनके सेक्टरअच्छा प्रदर्शन करते हैं लेकिन वास्तविक सफलता तब मिलती है जब फंड के मैनेजर शेयरों की खरीद के लिए साइकिल के सही फेज को पहचान पाते हैं।

IPCF फंड उस समय लॉन्च किया गया जब मेटल सेक्टर का साइकिल अपने बॉटम पर था और इसी समय इस स्कीम मेटल स्टॉक पर भारी दांव लगाया। स्कीम का 40 फीसदी से ज्यादा पोर्टफोलियों मेटल सेक्टर में था।

एक बार फिर जब मार्च 2020 में बाजार ने गहरा गोता लगया तो इस फंड के मैनेजरों ने सस्ते में मिल रहे कई मेटल स्टॉक को अपने पोर्टफोलियों में जगह दी और इस स्कीम का 60 फीसदी हिस्सा मेटल सेक्टर में हो गया जिसका फायदा इस स्कीम  को मिला।

इस स्कीम में शामिल Hindalco Industries में 180 फीसदी, Jindal Steel & Power में 365 फीसदी, Vedanta में 187 फीसदी और  Steel Authority Of India में 275 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। जिसकी वजह से इस स्कीम में जबरदस्त ग्रोथ देखने को मिली।

एक्सिस सिक्योरिटी के Neeraj Chadawar का कहना है कि 2020 में मेटल सेक्टर 2018 और 2019 की लंबी कमजोरी के बाद डिमांड में जोरदार बढ़ोतरी के दम पर टॉप परफॉर्मर रहा है। इसके अलावा डॉलर इंडेक्स की कमजोरी ने भी कमोडिटी की प्राइस को सपोर्ट दिया है। पिछले 1 साल में डॉलर इंडेक्स 9 फीसदी टूटा है जबकि इसी अवधि में ग्लोबल कमोडिटी इंडेक्स 48  फीसदी बढ़ा है।

Lalit kumar का कहना है कि अभी कमोडिटी सेक्टर में औऱ ऊपर जाने के लिए मौके बाकी हैं। उन्होंने कहा कि चीन में कमोडिटी सेक्टर पर प्रदूषण पर नियत्रंण के प्रयासों के चलते दबाव है और वह प्रदूषण पैदा करने वाली स्टील और एल्यूमिनियम इंडस्ट्री पर नकेल कस रहा है जिसका फायदा भारतीय कंपनियों को मिलेगा।

कुमार का आगे कहना है कि बहुत सारे मेटल और माइनिंग कंपनियों पर काफी कर्ज है। कमोडिटी की बढ़ती कीमतों से इनका मुनाफा बढ़ेगा जिससे अगले 2-3 तिमाहियों में इन कंपनियां का कर्ज भी घटेगा। इसके अलावा इंफ्रा डेवलपमेंट पर भारत, चाइना और अमेरिका जैसे देशों के फोकस से भी कमोडिटी सेक्टर में तेजी दिखेगी और आगे हमें कमोडिटी शेयरों में तेजी नजर आएगी।

अब क्या हो निवेश रणनीति

हालांकि थीमैटिक फंड हमें हाई रिटर्न देते हैं लेकिन कई बार इनमें जोखिम भी बहुत होता है। कमोडिटी शेयरों में हमें काफी उतार-चढ़ाव भी देखने को मिलता है क्योंकि कई ग्लोबल और घरेलू फैक्टर इन पर अपना असर डालते हैं। 10 साल में सिर्फ 3 बार ऐसा मौका देखने को मिला है जब कमोडिटी इंडेक्स ने सेसेंक्स निफ्टी से बेहतर प्रदर्शन किया हो।

थीमैटिक फंड होने के कारण यह स्कीम सिर्फ 26 शेयरों तक सीमित है। स्मॉल कैप शेयरों पर ज्यादा अलोकेशन से स्कीम का रिस्क बढ़ जाता है।

एक्सिस सिक्योरिटी के Neeraj Chadawar का कहना है कि तेज ग्लोबल रिकवरी के उम्मीद में मेटल और कमोडिटी की कीमतों में काफी भारी उछाल आया है। इस फ्रंट पर किसी भी बुरी खबर के चलते इस  सेक्टर पर भारी दबाव देखने को मिल सकता  है और नियर टर्म में जोखिम उठाना पड़ सकता है।

यह स्कीम अभी सिर्फ 20 महीने पुरानी है इसलिए अभी इससे दूर रहना ही सही होगा। जब तक यह लंबे टाइम फ्रेम में एक्रॉस मार्केट साइकिल में मजबूत और स्थिर प्रदर्शन नहीं करता तब तक इससे दूर ही रहें।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

« पिछला अगला   »
बड़ी खबरें»
Charanjit Singh Channi: जानें कौन हैं चरणजीत सिंह चन्नी, जिन्हें कांग्रेस ने दी पंजाब की बागडोर Charanjit Singh Channi: जानें कौन हैं चरणजीत सिंह चन्नी, जिन्हें कांग्रेस ने दी पंजाब की बागडोर
Top 10 कंपनियों में से 4 के मार्केट कैप में 65,464 करोड़ रुपये बढ़े, Airtel और SBI को सबसे ज्यादा फायदा Top 10 कंपनियों में से 4 के मार्केट कैप में 65,464 करोड़ रुपये बढ़े, Airtel और SBI को सबसे ज्यादा फायदा
IPL 2021: आज से IPL पार्ट-2 की शुरूआत! पहले मैच में मुंबई और चेन्नई में भिड़ंत, जानें सभी डिटेल IPL 2021: आज से IPL पार्ट-2 की शुरूआत! पहले मैच में मुंबई और चेन्नई में भिड़ंत, जानें सभी डिटेल
Delhi-Mumbai Expressway से सरकार को हर महीने होगी 1,000 से 1,500 करोड़ रुपये की कमाई – नितिन गडकरी Delhi-Mumbai Expressway से सरकार को हर महीने होगी 1,000 से 1,500 करोड़ रुपये की कमाई – नितिन गडकरी
चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री, सोमवार सुबह 11 बजे लेंगे शपथ चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री, सोमवार सुबह 11 बजे लेंगे शपथ