साइन इन | रजिस्टर

स्टॉक्स फंड्स एफ&ओ कमोडिटी

Franklin Templeton ने भारत से एग्जिट की खबरों को बताया अफवाह, SEBI कंपनी के 6 Mutual Fund Schemes की कर रही जांच

02 अप्रैल 2021, 02:14 PM

Franklin Templeton ने भारत से एग्जिट की खबरों को बताया अफवाह, SEBI कंपनी के 6 Mutual Fund Schemes की कर रही जांच
फ्रैंकलिन टेंपलटन (Franklin Templeton) ने उन मीडिया रिपोर्ट्स को खारिज कर दिया है जिसमें दावा किया गया था कि म्यूचुअल फंड्स हाउस भारत में अपने ऑपरेशंस बंद कर देश से एग्जिट कर सकता है। फ्रैंकलिन टेंपलटन के प्रेसिडेंट संजय सप्रे (Sanjay Sapre) ने एक लेटर जारी कर बताया कि कंपनी का भारत से एग्जिट करने का कोई योजना नहीं है और इस तरह की खबरें सिर्फ अफवाह हैं।

आपको बता दें कि फ्रैंकलिन टेंपलटन (Franklin Templeton) एक ग्लोबल इंवेस्टमेंट फर्म है जो भारत में म्यूचुअल फंड्स का कारोबार करती है। कंपनी का हेडक्वार्टर अमेरिका में है और इसका AUM यानी ऐसेट्स अंडर मैनेजमेंट 1.5 ट्रिलियन डॉलर यानी 110 लाख करोड़ रुपये से अधिक है। AUM उस पैसे को कहते हैं जिसे निवेशकों ने कंपनी के पास जमा कराया है।

आपको बता दें कि फ्रैंकलिन टेंपलटन के बंद पड़े 26,000 करोड़ रुपये से अधिक के म्यूचुअल फंड्स स्कीम्स में अनियमित रेंडेम्पशन के कारण इसे SEBI ने फ्रीज कर दिया था और इस मामले की जांच कर रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मामले में फ्रैंकलिन टेंपलटन के अधिकारियों ने अमेरिका में भारत के राजदूत से मुलाकात कर चेतावनी दी थी कि अगर उसे फेयर हीयरिंग नहीं मिला तो कंपनी भारत से एग्जिट कर जाएगी।

इन रिपोर्ट को पूरी करह अफवाह करार देते हुए फ्रैंकलिन टेंपलटन के प्रेसिडेंट संजय सप्रे ने कहा, फ्रैंकलिन टेंपलटन भारत के म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री में एंटर करने वाली कुछ चुनिंदा शुरुआती कंपनियों में से एक है। उन्होंने कहा कि जब दूसरी ग्लोबल ऐसेट मेनजमेंट कंपनियों ने भारत से एग्जिट का डिसीजन लिया, हम तब भी यहां टिके रहे। ऐसे में भारत से एग्जिट का कोई सवाल ही नहीं है।

हालांकि, अपने लेटर में संजय सप्रे ने भारतीय राजदूत से मुलाकात की खबरों का खंडन नहीं किया है। उन्होंने कहा कि यह मुलाकात रूटीन प्रक्रिया है। उने पहले भी कई कंपनियां ऐ करती रही हैं। अपने लेटर में उन्होंने कहा कि वे SEBI का सम्मान करते हैं। साथ ही कहा कि बाइंड-अप किए गए सभी 6 स्कीम 23 अप्रैल, 2020 को क्लोजिंग वैल्यू को पार कर गए और अब ये सभी 6 स्कीम कैश पॉजिटिव हैं।

इतने एसेट्स कैश में मौजूद

बंद होने वाले फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शॉर्ट बांड फंड के 63% एसेट्स कैश में हैं। जबकि, फ्रैंकलिन इंडिया लो डुरेशन फंड के 50% एसेट्स कैश में हैं। इसी तरह फ्रैंकलिन इंडिया डायनामिक एक्यूरल फंड के 41%, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड के 26% और फ्रैंकलिन इंडिया शॉर्ट टर्म इनकम प्लान के 9% एसेट्स कैश में मौजूद हैं।

वहीं, फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपॉरच्यूनिटीज फंड में उधारी का स्तर फिलहाल एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) के 6% पर है। आपको बता दें कि म्यूचुअल फंड कंपनी ने बॉन्ड मार्केट में लिक्विडिटी कम होने और रिडेम्शन प्रेशर बनने के चलते स्कीमों को 23 अप्रैल को बंद किया था।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।
« पिछला अगला   »
बड़ी खबरें»
Charanjit Singh Channi: जानें कौन हैं चरणजीत सिंह चन्नी, जिन्हें कांग्रेस ने दी पंजाब की बागडोर Charanjit Singh Channi: जानें कौन हैं चरणजीत सिंह चन्नी, जिन्हें कांग्रेस ने दी पंजाब की बागडोर
Top 10 कंपनियों में से 4 के मार्केट कैप में 65,464 करोड़ रुपये बढ़े, Airtel और SBI को सबसे ज्यादा फायदा Top 10 कंपनियों में से 4 के मार्केट कैप में 65,464 करोड़ रुपये बढ़े, Airtel और SBI को सबसे ज्यादा फायदा
IPL 2021: आज से IPL पार्ट-2 की शुरूआत! पहले मैच में मुंबई और चेन्नई में भिड़ंत, जानें सभी डिटेल IPL 2021: आज से IPL पार्ट-2 की शुरूआत! पहले मैच में मुंबई और चेन्नई में भिड़ंत, जानें सभी डिटेल
Electric Highway: कैसे काम करेगा देश का पहला इलेक्ट्रिक हाईवे? जानिए क्या होगा खास Electric Highway: कैसे काम करेगा देश का पहला इलेक्ट्रिक हाईवे? जानिए क्या होगा खास
Delhi-Mumbai Expressway से सरकार को हर महीने होगी 1,000 से 1,500 करोड़ रुपये की कमाई – नितिन गडकरी Delhi-Mumbai Expressway से सरकार को हर महीने होगी 1,000 से 1,500 करोड़ रुपये की कमाई – नितिन गडकरी