साइन इन | रजिस्टर

स्टॉक्स फंड्स एफ&ओ कमोडिटी

दिल्ली हिंसा के बाद बिखरने लगा किसान आंदोलन, दो संगठनों ने प्रदर्शन खत्म करने का किया ऐलान

27 जनवरी 2021, 06:13 PM

दिल्ली हिंसा के बाद बिखरने लगा किसान आंदोलन, दो संगठनों ने प्रदर्शन खत्म करने का किया ऐलान

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस (Republic Day Violence) के दिन किसान संगठनों की ट्रैक्टर परेड के नाम पर हुए शर्मनाक तांडव के बाद अब देश भर से उपद्रवकारियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग हो रही है। ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित मार्ग से हटकर प्रदर्शनकारी किसानों का एक ग्रुप मंगलवार को लालकिले में घुस गया और राष्ट्रीय राजधानी स्थित इस ऐतिहासिक स्मारक के कुछ गुंबदों पर झंडे लगा दिए। पूरा किसान आंदोलन उपद्रवियों की लाल किले के उस स्थान पर अपना झंडा फहराने से कठघरे में आ गया है, जहां हर साल स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री झंडा फहराते है।

गणतंत्र दिवस पर शर्मशार करने वाली तस्वीरें सामने आने के बाद कई किसान संगठनों ने कृषि कानूनों के नाम पर शुरू हुए इस आंदोलन से किनारा करना शुरू कर दिया है। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन (Rashtriya Kisan Mazdoor Sangathan) के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीएम सिंह (AIKSCC leader VM Singh) ने ऐलान किया है कि उनका संगठन किसानों के आंदोलन से अलग हो रहा है। सिंह ने भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) पर गंभीर आरोप लगाते हुए खुद और अपने संगठन को इस आंदोलन से अलग करने का ऐलान किया है। उन्‍होंने कहा कि हम अपना आंदोलन यहीं खत्‍म करते हैं। हमारा संगठन इस आंदोलन से अलग है।

उधर, भारतीय किसान यूनियन (भानू) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष भानू प्रताप सिंह ने भी खुद को किसान आंदोलन से अलग करने का ऐलान कर दिया है। उन्‍होंने कहा कि मैं कल दिल्‍ली में हुई घटना से इतना दुखी हूं कि मैं इसी समय से घोषणा करता हूं कि अपने संगठन के धरने को खत्‍म करता हूं। भारतीय किसान यूनियन (भानु) के अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह (Thakur Bhanu Pratap Singh) ने बुधवार को कहा कि मैं कल की घटना से इतना दुखी हूं कि इस समय मैं चिल्ला बॉर्डर से घोषणा करता हूं कि पिछले 58 दिनों से भारतीय किसान यूनियन (Bharatiya Kisan Union, Bhanu) का जो धरना चल रहा था उसे खत्म करता हूं।

किसान मजदूर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीएम सिंह ने गाजीपुर बॉर्डर पर पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सरकार की भी गलती है जब कोई 11 बजे की जगह 8 बजे निकल रहा है तो सरकार क्या कर रही थी। जब सरकार को पता था कि लाल किले पर झंडा फहराने वाले को कुछ संगठनों ने करोड़ों रुपये देने की बात की थी। उन्होंने आगे कहा कि हिन्दुस्तान का झंडा, गरिमा, मर्यादा सबकी है। उस मर्यादा को अगर भंग किया है, भंग करने वाले गलत हैं और जिन्होंने भंग करने दिया वो भी गलत हैं... ITO में एक साथी शहीद भी हो गया। जो लेकर गया या जिसने उकसाया उसके खिलाफ पूरी कार्रवाई होनी चाहिए। सिंह ने कहा कि हम अपना आंदोलन यहीं वापस ले रहे हैं।

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के प्रमुख ने कहा कि दिल्ली में जो हंगामा और हिंसा हुई, उसकी जिम्मेदारी भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत को लेनी चाहिए। हम ऐसे किसी शख्स के साथ विरोध को आगे नहीं बढ़ा सकते, जिसकी दिशा कुछ और हो। उन्होंने कहा कि इसलिए मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं, लेकिन मैं और मेरा संगठन इस आंदोलन से अलग हो रहे हैं। 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद बुधवार को पुलिस ने 6 किसान नेताओं पर FIR दर्ज की और 200 उपद्रवियों को हिरासत में लिया और कई किसान नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज की है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

« पिछला अगला   »
बड़ी खबरें»
अमेरिकन एक्सप्रेस और डाइनर्स क्लब 1 मई से नए ग्राहक नहीं जोड़ पाएंगे, RBI ने लगाई पाबंदी अमेरिकन एक्सप्रेस और डाइनर्स क्लब 1 मई से नए ग्राहक नहीं जोड़ पाएंगे, RBI ने लगाई पाबंदी
HCL Technologies का Q4 मुनाफा 26 % गिरा, दिया मजबूत रेवेन्यू ग्रोथ का गाइडेंस HCL Technologies का Q4 मुनाफा 26 % गिरा, दिया मजबूत रेवेन्यू ग्रोथ का गाइडेंस
दिल्ली और यूपी समेत इन 5 राज्यों से बंगाल जाने वालों के लिए RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य दिल्ली और यूपी समेत इन 5 राज्यों से बंगाल जाने वालों के लिए RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य
इंटरनल मीटिंग लाइव करने पर PM मोदी ने जताई नाराजगी, तो CM केजरीवाल ने मांगी माफी इंटरनल मीटिंग लाइव करने पर PM मोदी ने जताई नाराजगी, तो CM केजरीवाल ने मांगी माफी
राकेश झुनझुनवाला के पोर्ट फोलियो में शामिल  Nazara Tech की आय में  84% की बढ़त, EBITDA में  470% का उछाल राकेश झुनझुनवाला के पोर्ट फोलियो में शामिल Nazara Tech की आय में 84% की बढ़त, EBITDA में 470% का उछाल