साइन इन | रजिस्टर

स्टॉक्स फंड्स एफ&ओ कमोडिटी

किसानों के उपद्रव के बाद पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने लाल किले में हुए नुकसान का लिया जायजा

27 जनवरी 2021, 03:04 PM

किसानों के उपद्रव के बाद पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने लाल किले में हुए नुकसान का लिया जायजा

केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल (Tourism and Culture Minister Prahlad Patel) ने बुधवार को लाल किले ( Red Fort) का दौरा कर ऐतिहासिक इमारत में किसानों के एक ग्रुप द्वारा जबरन यहां घुसने और झंडा लहराने से हुए नुकसान का जायजा लिया। केंद्रीय मंत्री ने घटना की रिपोर्ट भी तलब की है। पटेल ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा कि मैं इस मुद्दे पर अभी कुछ नहीं कहना चाहता हूं। मैंने रिपोर्ट मांगी है, उसे आने दीजिए।

पटेल के दौरे के दौरान मेटल डिटेक्टर गेट एवं टिकट कांउटर में की गई तोड़फोड़ को देखा जा सकता था। इसके अलावा लाल किला परिसर में कांच के टुकड़े बिखरे हुए थे। पटेल के साथ संस्कृति मंत्रालय के सचिव एवं भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (Archaeological Survey of India, ASI) के महानिदेशक मौजूद थे। मंत्री ने मंगलवार को प्रदर्शनकारी किसानों की हरकत की निंदा की थी जो लाल किले में दाखिल हो गए थे।

उन्होंने कहा था कि इससे भारतीय लोकतंत्र की मर्यादा के प्रतीक का अपमान हुआ है। दिल्ली में ASI संरक्षित 173 स्मारक हैं। इनमें यूनेस्को (UNESCO) विश्व विरासत सूची में शामिल लाल किला, हुमायूं का मकबरा और कुतुब मीनार भी है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में किसान संगठनों की ट्रैक्टर परेड के नाम पर हुए शर्मनाक तांडव के बाद अब देश भर से उपद्रवकारियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग हो रही है। ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित मार्ग से हटकर प्रदर्शनकारी किसानों का एक ग्रुप मंगलवार को लाल किले में घुस गया और राष्ट्रीय राजधानी स्थित इस ऐतिहासिक स्मारक के कुछ गुंबदों पर झंडे लगा दिए।

पूरा किसान आंदोलन उपद्रवियों की लाल किले के उस स्थान पर अपना झंडा फहराने से कठघरे में आ गया है, जहां हर साल स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री झंडा फहराते है। पुलिस द्वारा मंगलवार को ITO से खदेड़े गए प्रदर्शनकारी किसानों का एक ग्रुप अपने ट्रैक्टर लेकर लाल किला परिसर पहुंच गया। ये प्रदर्शनकारी लाल किला परिसर में घुस गए और उस ध्वज-स्तंभ पर अपना झंडा लगाते दिखे जहां से प्रधानमंत्री 15 अगस्त को राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। उन्होंने लाल किले के कुछ गुंबदों पर भी अपने झंडे लगा दिए।

इससे पहले प्रदर्शनकारी किसान ITO पहुंच गए और लुटियंस इलाके की तरफ बढ़ने की कोशिश की। इसपर पुलिस को लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल करना पड़ा। प्रदर्शनकारियों ने ट्रैक्टर परेड के निर्धारित समय से काफी पहले ही दिल्ली के विभिन्न सीमा बिंदुओं से दिल्ली के भीतर बढ़ना शुरू कर दिया और अनुमति न मिलने के बावजूद वे मध्य दिल्ली स्थित ITO पहुंच गए।

दिल्ली पुलिस ने किसानों को इस शर्त के साथ ट्रैक्टर परेड की अनुमति दी थी कि वे राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड के समाप्त होने के बाद तय किए गए मार्गों पर ही अपनी परेड करेंगे। हालांकि, किसान मध्य दिल्ली की ओर बढ़ने पर अड़ गए जिससे अफरातफरी मच गई। बुधवार को दिल्ली पुलिस ने बताया कि बीते दिन रैली के दौरान हिंसा को लेकर 22 FIR दर्ज की गईं हैं।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

« पिछला अगला   »
बड़ी खबरें»
अमेरिकन एक्सप्रेस और डाइनर्स क्लब 1 मई से नए ग्राहक नहीं जोड़ पाएंगे, RBI ने लगाई पाबंदी अमेरिकन एक्सप्रेस और डाइनर्स क्लब 1 मई से नए ग्राहक नहीं जोड़ पाएंगे, RBI ने लगाई पाबंदी
HCL Technologies का Q4 मुनाफा 26 % गिरा, दिया मजबूत रेवेन्यू ग्रोथ का गाइडेंस HCL Technologies का Q4 मुनाफा 26 % गिरा, दिया मजबूत रेवेन्यू ग्रोथ का गाइडेंस
दिल्ली और यूपी समेत इन 5 राज्यों से बंगाल जाने वालों के लिए RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य दिल्ली और यूपी समेत इन 5 राज्यों से बंगाल जाने वालों के लिए RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य
इंटरनल मीटिंग लाइव करने पर PM मोदी ने जताई नाराजगी, तो CM केजरीवाल ने मांगी माफी इंटरनल मीटिंग लाइव करने पर PM मोदी ने जताई नाराजगी, तो CM केजरीवाल ने मांगी माफी
राकेश झुनझुनवाला के पोर्ट फोलियो में शामिल  Nazara Tech की आय में  84% की बढ़त, EBITDA में  470% का उछाल राकेश झुनझुनवाला के पोर्ट फोलियो में शामिल Nazara Tech की आय में 84% की बढ़त, EBITDA में 470% का उछाल