साइन इन | रजिस्टर

स्टॉक्स फंड्स एफ&ओ कमोडिटी

न्यूट्रिशन रेटिंग करने वाले स्टार्टअप LabelBlind का सफरनामा

21 नवम्बर 2019, 08:56 AM

हम अकसर खाने-पीने के सामान खरीदते वक़्त पैकेट पर लिखी जानकारी नहीं पढ़ पाते। ये जानकारियां कई बार इस तरीके से लिखी रहती हैं जिसे समझना भी मुश्किल होता है। मुंबई का एक स्टार्टअप लेबल ब्लाइंड इस जानकारी को आपके लिए आसान बनाने की कोशिश कर रहा है।

फूड न्यूट्रिशन में मास्टर्स की डिग्री  लेने के बाद रशीदा वापीवाला कुछ ऐसा करना चाहती थीं जिससे कंज्यूमर्स को सीधा फायदा हो। फूड पैकेट पर लिखी जानकारी काफी ज्यादा पेचीदा होती है और आम आदमी इससे बहुत कुछ नहीं समझ पाता। राशिदा ने इस जानकारी को आसान बनाने के लिए एक प्लेटफार्म डेवलप किया - लेबल ब्लाइंड।

इस प्लेटफार्म पर लगभग 4000 फूड आइटम्स की न्यूट्रीशनल वैल्य को आसानी से समझाया गया है । ये प्लेटफॉर्म किसी भी फूड आइटम की फाइव पॉइंट्स रेटिंग करता है जिससे कंज्यूमर्स एक  informed choice ले सकें।  लेबल ब्लाइंड अपनी तरफ से कोई  नया टेस्ट नहीं करता बल्कि पैकेट पर दी गई जानकारी का ही इस्तेमाल करता है। खाने में मौजूद कैलरी, शुगर, सॉल्ट, फैट या allergents की जानकारी आप सिर्फ सिम्बल देख कर ले सकते हैं। साथ ही आप अलग-अलग फूड आइटम्स को कंपेयर भी कर भी कर सकते हैं।

देश में फूड सेफ्टी के लिए जिम्मेदार एजेंसी FSSAI इस वक्त लेबलिंग के नए नियम तैयार कर रही है जिसमें कंपनियों को आसान भाषा में और बड़े अक्षरों में खाने पीने से जुड़ी जानकारी पैकेट पर लिखनी होगी। लेकिन कई फूड कंपनियां इसका विरोध कर रही हैं। जब तक ये नियम तैयार नहीं हो जाता तब तक लेबल ब्लाइंड तो आपकी मदद कर ही रहा है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

« पिछला अगला   »
बड़ी खबरें»
यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर की जमानत याचिक पर सुनवाई 3 अप्रैल तक टली
बाजार में 4 दिनों की तेजी पर लगा ब्रेक, Sensex 1375 अंक गिरकर 28,440 पर बंद
Coronavirus: आखिरकार सरकार ने माना, कोरोना का 'लिमिटेड कम्युनिटी स्प्रेड' हुआ है
लॉकडाउन की वजह से बेरोजगारों हुए लोगों को बड़ी राहत, सरकार दे सकती है अपनी जेब से सैलरी!
COVID-19: महामारी के खिलाफ सिर्फ हेल्थकेयर काफी नहीं, सप्लाई चेन इनोवेशन भी जरूरी