साइन इन | रजिस्टर

स्टॉक्स फंड्स एफ&ओ कमोडिटी

आवाज़ की मुहिम, कम करो पेट्रोल-डीजल के दाम

13 सितम्बर 2017, 11:25 AM

देश में लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दाम से हर कोई परेशान है। 2014 के मुकाबले कच्चे तेल की कीमतें लगभग आधी हो जाने के बावजूद भी पेट्रोल और डीजल के दाम घट नहीं रहे हैं। मसलन अक्टूबर 2014 में क्रूड के दाम करीब 108 डॉलर प्रति बैरल थे जो अब करीब 54 डॉलर रह गई है। लेकिन, पेट्रोल और डीजल की कीमतें तकरीबन 2014 के स्तर पर ही हैं। आपकी इसी परेशानी को सरकार तक पहुंचाने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ आज दिन भर कम करो पेट्रोल-डीजल के दाम मुहिम चला रहा है।

बताना चाहेंगे कि दिल्ली में पेट्रोल की मौजूदा कीमत 70.3 रुपये प्रति लीटर है, जबकि अक्टूबर 2014 में दाम 76.1 रुपये प्रति लीटर था। वहीं, फिलहाल कच्चे तेल का भाव 54 डॉलर प्रति बैरल के आसपास है, जबकि अक्टूबर 2014 में कीमत 108 डॉलर प्रति बैरल थी।

गौरतलब है कि पेट्रोल पर अभी 21.5 रुपये प्रति लीटर एक्साइज लगाया जा रहा है, जबकि अक्टूबर 2014 में एक्साइज 9.6 रुपये प्रति लीटर था। फिलहाल पेट्रोल पर 27 फीसदी की दर से वैट वसूला जा रहा है, जबकि अक्टूबर 2014 में वैट की दर 12.7 फीसदी थी। अभी पेट्रोल पर डीलर को 3.24 रुपये प्रति लीटर का कमीशन दिया जा रहा है, जबिक अक्टूबर 2014 में कमीशन 1.79 रुपये प्रति लीटर था।

दिल्ली में डीजल की मौजूदा कीमत 58.6 रुपये प्रति लीटर है, जबकि अक्टूबर 2014 में दाम 59 रुपये प्रति लीटर था। डीजल पर अभी 17.33 रुपये प्रति लीटर एक्साइज लगाया जा रहा है, जबकि अक्टूबर 2014 में एक्साइज 3.5 रुपये प्रति लीटर था। फिलहाल डीजल पर 16.75 फीसदी की दर से वैट वसूला जा रहा है, जबकि अक्टूबर 2014 में वैट की दर 6.8 फीसदी थी। अभी डीजल पर डीलर को 2.18 रुपये प्रति लीटर का कमीशन दिया जा रहा है, जबिक अक्टूबर 2014 में कमीशन 1.18 रुपये प्रति लीटर था।

बढ़ती कीमतों को लेकर सीएनबीसी आवाज़ ने मुहिम चलाई तो पेट्रोलियम मंत्रालय ने इमरजेंसी बैठक की। लेकिन बैठक के बाद कीमतें कम करने पर कोई बयान नहीं आया। सरकार डायनमिक प्राइसिंग का फैसले का बचाव कर रही है। आज मीटिंग के बाद खुद पेट्रेलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि डायनेमिक प्राइसिंग ग्राहकों के हित में है। सरकार पेट्रोलियम कीमतों में दखल नहीं देगी।

« पिछला अगला   »
बड़ी खबरें»
निफ्टी सपाट होकर 10150 के करीब बंद, सेंसेक्स 21 अंक गिरा
बीमारियों से बचाने के लिए केंद्र का एक्श्न प्लान
बेनामी संपत्ति पर सरकार सख्त, 450 लोगों को नोटिस
सुस्त रही बाजार की चाल, आगे कैसा रहेगा हाल
12000 को छुएगा निफ्टी, कहां लगाएं दांव